Monday, December 11, 2017
Follow us on
 
 
 
Chandigarh

अपने पापा द ग्रेट से मिलना चाहती है हनीप्रीत

October 09, 2017 12:42 AM

चंडीगढ़, 08 अक्तूबर ( न्यूज़ अपडेट इंडिया ) । एक तरफ रोहतक जेल में बंद राम रहीम जहां हनीप्रीत से मिलने की इच्छा जताता रहा है वहीं अब पुलिस रिमांड के दौरान हनीप्रीत ने भी राम रहीम से मिलने की इच्छा जताई है। हनीप्रीत ने इस मुलाकात के पीछे राम रहीम की कमर दर्द का हवाला दिया है। हनीप्रीत की रिमांड अवधि कल समाप्त होने जा रही है।
करीब 38 दिन की फरारी के बाद बीती 3 अक्तूबर को हरियाणा पुलिस ने हनीप्रीत व उसकी सहयोगी सुखदीप कौर को पंजाब के जीरकपुर से गिरफ्तार किया था। चार अक्तूबर को पंचकूला की अदालत ने हनीप्रीत व सुखदीप को छह दिन के पुलिस रिमांड पर पुलिस के हवाले किया था।

रिमांड के दौरान पुलिस के सामने रखी मांग
बोली कमर दर्द का इलाज सिर्फ वही कर सकती है
पुलिस ने पूछताछ के लिए सीआईए को सौंपा

हनीप्रीत की रिमांड अवधि मंगलवार को समाप्त होने जा रही है। इसके बावजूद अभी तक हरियाणा पुलिस हनीप्रीत से कोई बड़ा राज उगलवाने में असफल रही है। हालांकि पुलिस हनीप्रीत को लेकर बठिंडा में भी गई लेकिन पुलिस के हाथ कोई बड़ी कामयाबी नहीं लगी। शनिवार को करीब छह घंटे तक पुलिस ने हनीप्रीत व सुखदीप को अज्ञात स्थान पर ले जाकर उनके साथ सख्ती से पूछताछ भी लेकिन कोई कामयाबी नहीं मिली।
हनीप्रीत अपने बयानों के माध्यम से पुलिस को लगातार गुमराह कर रही है। अब पुलिस के पास बहुत कम समय बचा है। ऐसे में पुलिस ने शनिवार को देररात हनीप्रीत व सुखदीप को पूछताछ के लिए सीआईए के हवाले कर दिया। सीआईए टीम ने रविवार को करीब छह घंटे तक अपने तरीके से दोनों आरोपियों से पूछताछ की। इस पूछताछ में पुलिस को कामयाबी मिली या नहीं यह तो नहीं पता चला अलबत्ता इस रिमांड के दौरान नई खबर सामने आ गई।
हनीप्रीत को पुलिस रिमांड के दौरान टीवी चैनलों तथा अन्य माध्यम से पता चला कि रोहतक की सुनारियां जेल में बंद उसके कथित ‘पापा’ राम रहीम की कमर में दर्द है। हनीप्रीत ने पुलिस के समक्ष अपने पापा से मिलने की गुहार लगाते हुए कहा है कि पापा की कमर दर्द का इलाज वही करती रही है। इस समय उसके पापा संकट में हैं। इसलिए उसे पापा से मिलने की इजाजत दी जाए। हनीप्रीत की इस मांग की पुष्टि करते हुए उससे पूछताछ करने वाली टीम के एक आला अधिकारी ने बताया कि हनीप्रीत राम रहीम से मुलाकात करना चाहती है। उसने तर्क दिया है कि वह बेटी होने के नाते अपने पिता को मुसीबत में नहीं देख सकती है। हालांकि पुलिस ने उसकी इस मांग को गंभीरता से नहीं लिया लेकिन हनीप्रीत की इस मांग को पुलिस पूछताछ को असल मुद्दे से भटकाने की दिशा में किया गया प्रयास माना जा रहा है। क्योंकि हनीप्रीत रिमांड अवधि के दौरान इस तरह की मांग करके पुलिस का समय पूरा करवाना चाहती है।

 
Have something to say? Post your comment