Sports

70वीं एशेज़ सिरीज़: जानिए इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में से किसका पलड़ा भारी

November 23, 2017 02:52 PM

ब्रिस्बेन,23 नवंबर ( न्यूज़ अपडेट इंडिया ) : क्रिकेट की सबसे पुरानी प्रतिद्वंद्विता, एशेज़ सिरीज़ की गुरुवार से शुरुआत हो रही है। इसमें दो चिर प्रतिद्वंद्वी आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड अपना सब कुछ झोंकने के लिए तैयार हैं। सीरीज का पहला टेस्ट मैच गुरुवार से गाबा में खेला जाएगा। इंग्लैंड के कप्तान जो रूट और आस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ पहली बार एशेज में टीम की कमान संभाल रहे हैं। दोनों टीमें युवा खिलाड़ियों से भरी हुई हैं। दोनों के पास अनुभवी खिलाड़ियों की कमी है।

आस्ट्रेलिया की टीम अपने घर में मिशेल स्टार्क, जोश हेजलवुड और पैट कमिंस के तेज गेंदबाजी आक्रमण के साथ उतरेगी। स्पिन में उसके पास नाथन लॉयन होंगे। बल्लेबाजी में मेजबान कप्तान स्मिथ और उप-कप्तान डेविड वॉर्नर पर निर्भर करेंगे। लेकिन, वॉर्नर को अभ्यास में गर्दन में चोट लग गई थी। ऐसे में उनके खेलने पर संशय बना हुआ है। हालांकि कप्तान स्मिथ ने कहा कि वॉर्नर खेलने के लिए तैयार हैं। वार्नर के साथ सलामी बल्लेबाजी का जिम्मा कैमरून बेनक्रॉफ्ट का होगा। मैच से पहले आस्ट्रेलिया को एक और झटका लगा है। शॉन मार्श की पीठ में समस्या है और उनके खेलने पर भी संशय है।

वहीं इंग्लैंड की टीम के पास स्टुअर्ट ब्रॉड और जेम्स एंडरसन जैसे अच्छे तेज गेंदबाज तो हैं लेकिन उनका फॉर्म में न होना उसके लिए परेशानी का सबब है। टीम की बल्लेबाजी पूर्व कप्तान एलिस्टर कुक और कप्तान रूट पर निर्भर है। इन दोनों के अलावा कोई और बल्लेबाज उस काबिलियत का नहीं लग रहा जो आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को उनके घर में परेशान कर सके। टीम का मध्यक्रम अनुभवहीन है जिसमें जेम्स विंसे, डेविड मलान और मार्क स्टोनमैन हैं। इन सभी के हिस्से ज्यादा टेस्ट मैच नहीं हैं।

एशेज से पहले ही इंग्लैंड के अहम खिलाड़ी बेन स्टोक्स का ब्रिस्टल विवाद के कारण बाहर हो जाना उसके लिए पहले ही बड़ी मुसिबत खड़ी कर चुका है। स्टीवन फिन भी चोट के कारण स्वदेश लौट चुके हैं। ऐसे में घर से बाहर खेलते हुए इंग्लैंड के सामने एशेज अपने पास ही रखने की चुनौती विशाल है।

इंग्लैंड इतिहास से अच्छी तरह वाकिफ है जो उसके खिलाफ ही है। आस्ट्रेलिया में खेले गए 98 टेस्ट मैचों में से 23 में ही उसे जीत मिली है। आखिरी तीन एशेज में से दो आस्ट्रेलिया में खेली गईं थी जिसमें इंग्लैंड को मात खानी पड़ी थी। जिस मैदान पर पहला मैच खेला जाना है उस पर इंग्लैंड की टीम 1986 के बाद से कभी नहीं जीती है।

इस विकेट को आस्ट्रेलिया की सवश्रेष्ठ विकेट कहा जाता है। इस पर अच्छी तेजी और उछाल रहता है और यह इंग्लैंड के बल्लेबाजों के लिए सिरदर्द साबित हो सकती है।

टीमें :

आस्ट्रेलिया : स्टीव स्मिथ (कप्तान), डेविड वार्नर, कैमरून बेनक्रॉफ्ट, उस्मान ख्वाजा, पीटर हैंड्सकॉम्ब, शॉन मार्श, टिम पेन (विकेटकीपर), मिचेल स्टार्क, पैट कमिंस, नाथन लॉयन, जोश हेजलवुड।

इंग्लैंड : जोए रूट (कप्तान), एलिस्टर कुक, मार्क स्टोनमैन, जेम्स विंसे, डेविड मलान, मोइन अली, जॉनी बेयरस्टो (विकेटकीपर), क्रिस वोक्स, स्टुअर्ट ब्रॉड, जेम्स एंडरसन, जैक बाल।






 
Have something to say? Post your comment
 
More Sports News
भारत-श्रीलंका धर्मशाला वनडे में सामने आए ये कमाल के दिलचस्प आंकड़े
पहले वनडे मैच में श्रीलंका ने भारत को 7 विकेट से हराया, सीरीज़ में बनाई 1-0 की बढ़त
नागपुर टेस्ट में गरजे चेतेश्वर पुजारा, लगा दिया टेस्ट करियर का 14वां शतक
17 ओवर में सिर्फ 2 रन पर आउट हो गई ये टीम, 9 बल्लेबाज खाता भी नहीं खोल पाए
कूच बिहार ट्रॉफी में अर्जुन तेंदुलकर ने मध्य प्रदेश के खिलाफ पांच विकेट झटके  
आशीष नेहरा ने किया बड़ा ऐलान, इस काम से करेंगे दूसरी पारी की शुरुआत
विराट ने बैट के हैंडल को क्यों करवाया छोटा, जानें क्या है राज़
अफ्रीका दौरे को ध्यान में रखते हुए श्रीलंका के खिलाफ ये एक्सपेरीमेंट कर सकता है भारत
श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट में जगह न मिलने पर हार्दिक पंड्या ने खुद किया ये बड़ा खुलासा
श्रीलंकाई गेंदबाजी कोच का बड़ा खुलासा, भारतीय बल्लेबाजों से निपटने के लिए खास रणनीति