Tuesday, May 22, 2018
Follow us on
 
 
 
Business

भारत में इस्लामिक बैंक की नहीं होगी शुरुआत, RTI के तहत RBI ने दी जानकारी

November 13, 2017 11:46 AM

नई दिल्ली,12 नवंबर ( न्यूज़ अपडेट इंडिया ) । भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने देश में शरीया के सिद्धांतों पर चालने बैंकिंग व्यवस्था शुरू करने के प्रस्ताव पर आगे कोई कार्रवाई नहीं करने का निर्णय लिया है। RBI ने सूचना का अधिकार (RTI) के तहत पूछे गये एक सवाल के जवाब में यह जानकारी दी है। RBI ने कहा है कि सभी लोगों के सामने बैंकिंग एवं वित्तीय सेवाओं के समान अवसर पर विचार किये जाने के बाद यह निर्णय लिया गया है। उसने कहा कि रिजर्व बैंक और भारत सरकार ने देश में इस्लामिक बैंकिंग की शुरुआत का परीक्षण किया है।

RBI ने कहा, ‘‘सबके लिए बैंकिंग एवं वित्तीय सेवाओं के समान अवसर उपलब्ध कराने पर विचार किये जाने के बाद निर्णय लिया गया है कि देश में इस्लामिक बैंकिंग शुरू करने के प्रस्ताव पर आगे कोई कदम नहीं उठाया जाएगा।’’ इस्लामिक या शरिया बैंकिंग ऐसी वित्तीय व्यवस्था को कहते हैं जिसमें ब्याज का प्रावधान नहीं होता है। इस्लामिक नियमों के तहत ब्याज का निषेध किया गया है।

उल्लेखनीय है कि रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन की अध्यक्षता वाली एक समिति ने 2008 में देश में ब्याज-रहित बैंकिंग के मुद्दे पर गहराई से विचार करने की जरूरत पर जोर दिया था। सरकार ने रिजर्व बैंक को कहा था कि वह देश में इस्लामिक बैंकिंग शुरू करने की दिशा में उठाये गये कदमों की विस्तृत जानकारी मुहैया कराए।

 
Have something to say? Post your comment
 
More Business News
पेनाल्टी से लीगल एक्शन तक: लोन न चुकाना पड़ेगा कितना भारी, जानिए
ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार होने पर आपको मिलेगा कितना रिफंड, जानिए
जानिए रिस्क फ्री निवेश के बारे में, नहीं होता पैसा डूबने का कोई खतरा
क्रिटिकल इलनेस कवर कितना जरूरी, जानिए कैसे करें इसका चुनाव
ईएमआइ के बोझ से बचाएगा रिवर्स ईएमआइ फंड का तरीका
हेल्थ पॉलिसी खरीदने से पहले इन बातों का रखें ध्यान, होगा फायदा
मुनाफाखोरी रोधी प्राधिकरण के गठन को कैबिनेट की मंजूरी
आपके बच्चों को कभी नहीं सताएगी पैसों की चिंता, ऐसे करें प्लानिंग
फ्री कॉल और डाटा के बाद अब जियो देगा सस्‍ता किराना, अंबानी ने शुरू की फि‍र हलचल मचाने की तैयारी
वीवो ने खोला ऑफर्स का पिटारा, लेटेस्‍ट फोन पर मिल रही है हजारों की छूट