Tuesday, October 24, 2017
Follow us on
BREAKING NEWS
मोदी ने कहा कठोर क़दम के बाद अर्थव्यवस्था पटरी पर लौटी जम्मू-कश्मीर: कुपवाड़ा में सुरक्षाबलों की आतंकियों से मुठभेड़, एक आतंकी ढेर आज गुजरात दौरे पर राहुल गांधी, कांग्रेस ने दिया हार्दिक पटेल और जिग्नेश मेवानी को खुला न्योता हिमाचल चुनाव: कांग्रेस की अंतिम सूची में वीरभद्र के पुत्र का नाम शामिल खुलेगा पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति केनेडी की हत्या का राज? फाइलें सार्वजनिक करेंगे ट्रंप भारतीय वायुसेना को यह ‘हथियार’ देने पर विचार कर रहा है अमेरिका चीन ने दुनियाभर के नेताओं को दी चेतावनी, दलाई लामा से मुलाकात की तो इसे एक गंभीर अपराध समझा जाएगा इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन में कैमरा लगाने के लिए ऐस्ट्रोनॉट्स ने किया स्पेसवॉक
 
 
 
Sports

भारतीय टीम के कोच माटोस बोले, नतीजे से खुश नहीं, लेकिन हमारा प्रदर्शन सराहनीय

October 07, 2017 06:46 PM

नई दिल्ली, 07 अक्तूबर ( न्यूज़ अपडेट इंडिया ) : फीफा अंडर17 वर्ल्‍डकप के पहले मैच के प्रदर्शन से भारतीय टीम के कोच लुई नोर्टन डि माटोस खुश नहीं हैं लेकिन उन्होंने जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में भारतीय टीम के खिलाड़ियों के प्रदर्शन की प्रशंसा की जो विपक्षी टीम की तुलना में अनुभवहीन थे।   भारत पहली बार किसी वर्ल्‍डकप में भाग ले रहा है, जिसके खिलाड़ियों ने बीच-बीच में शानदार खेल दिखाया लेकिन अनुभव के मामले में टीम काफी पीछे दिखी.भारत को अमेरिका के हाथों 0-3 की हार का सामना करना पड़ा। 

माटोस ने कहा, ‘मैं टीम के खिलाड़ियों के एकजुट प्रयास से खुश हूं लेकिन नतीजे से खुश नहीं हूं. जैसा कि मैं पहले ही कह चुका हूं कि हमारी और अमेरिकी टीम में काफी अंतर है. वे काफी अनुभवी हैं और यहां आने से पहले तैयारियों के लिए पिछले दो महीनों में करीब सात-आठ अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके थे जबकि हमारे खिलाड़ियों को ऐसा कोई अनुभव नहीं है।   उन्होंने उम्मीद जताई कि अगर वे इसी तरह खेलते रहे तो भविष्य में बेहतरीन टीमों को टक्कर दे सकते हैं. कोच ने कहा, ‘खिलाड़ियों को अगर अनुभव मिल जाये तो वे किसी टीम के सामने चुनौती पेश कर सकते हैं।   उन्‍होंने कहा, ‘खिलाड़ियों को इस तरह के टूर्नामेंट खेलने का मौका नहीं मिलता, वे पहली बार इतने बड़े स्तर का मैच खेल रहे हैं. वे कभी भी 40,000 दर्शकों की क्षमता के स्टेडियम में नहीं खेले और अब खेले तो इतनी मजबूत अमेरिकी टीम से. ’ टीम ने पहला गोल 31वें मिनट में पेनल्टी में गंवा दिया था, कोच ने कहा, ‘हमने पहले हाफ में गोल गंवाया जिससे बचा जा सकता था. हमें गोल करने का मौका मिला था, अगर हम वो गोल कर देते तो शायद स्कोर लाइन 1-2 हो सकती थी और अमेरिकी टीम अंतिम 10 मिनट में इतनी आक्रामक न होकर डिफेंसिव होती। 

 
Have something to say? Post your comment
 
More Sports News
पाकिस्तान को 4-0 से रौंदकर फाइनल में पहुंचा भारत
रिकॉर्ड और फ़ॉर्म टीम इंडिया के साथ, न्यूज़ीलैंड खाते में सिर्फ 7 जीत
एशिया कप: फार्म में चल रही भारतीय टीम की निगाहें पाकिस्तान को पस्त करने पर
प्रतिबंध नहीं हटाया, तो दूसरे देश के लिए खेल सकता हूं : श्रीसंत
रणजी मैच का अनोखा दृश्य: यूं 9 स्लिप लगाकर बोलिंग करते नजर आए मोहम्मद समी और डिंडा
श्रीसंत पर जारी रहेगा बैन, केरल हाईकोर्ट ने मानी बीसीसीआई की अपील
टीम इंडिया के खिलाड़ियों को बच्चों की तरह डांटते थे कुंबले! विराट की नाराजगी की वजह से गंवाया था कोच का पद
मैच के दौरान साथी खिलाड़ी से टकराने के कारण दिग्गज गोलकीपर की मौत
रेस्‍ट दिए जाने पर रवींद्र जडेजा ने सेलेक्‍टर्स को दिया जवाब, रणजी ट्रॉफी में ठोंका दोहरा शतक
जानिए क्यों न्यूजीलैंड सीरीज के लिए केएल राहुल को नहीं दिया विराट कोहली ने मौका