Monday, May 25, 2020
Follow us on
 
 
 
Religion

छठ पूजा इन चीजों के बिना है अधूरा, पूजा के समय जरुर रखें साथ

October 24, 2017 11:50 AM

चंडीगढ़ ,23 अक्तूबर ( न्यूज़ अपडेट इंडिया ) छठ पूजा का चार दिन का त्योहार नहाए-खाए के साथ आज से शुरु हो रहा है। जो कि सूर्य भगवान को अर्ध्य करने के साथ-साथ 27 अक्टूबर को सुबह समाप्त हो रहा है। इस पर्व में भगवान सूर्य की पूजा बहुत ही विधि-विधान से की जाती है। छठ पूजा को लेकर मान्यता है कि इस दिन बहुत ही विधि-विधान के साथ पूजा की जानी चाहिए, नहीं तो उसका इसी जन्म अशुभ फल मिलता है। इन 4 दिनों में व्रती को बहुत ही साफ-सुथरा और विधि-विधान के साथ भगवान सूर्य की उपासना करनी होती है। जिससे प्रसन्न होकर छठ माता सौभाग्य, संतान रक्षा, परिवार में सुख-शांति का वरदान हेती है।इस बार षष्ठी तिथि 25 अक्टूबर की सुबह 9 बजकर 37 मिनट से गुरुवार 26 अक्टूबर की दोपहर 12 बजकर 15  मिनट तक है। वहीं शुक्रवार 27 अक्टूबर की सुबह उगते सूरज को प्रात:कालीन अघ्र्य दिया जाएगा।  जानिए इस दिन किन चीजों को साथ ले जाना नहीं भूलना चाहिए।

इन चीजों से करें छठ पूजा
सूप: अर्ध्य में नए बांस से बनी सूप व डाला का इस्तेमाल करें। माना जाता है कि सूप से वंश में वृद्धि और रक्षा होती है।
ईख: ईख या गन्ना आरोग्यता का घोतक है।
ठेकुआ: ठेकुआ समृद्धि का घोतक है। यह एक मीठा व्यजंन है।
मौसमी फल: यह फल प्राप्ति के घोतक हैं।
नारियल: इस दिन नारियल चढ़ाना भी शुभ माना जाता है।

 
Have something to say? Post your comment
More Religion News
इलाहाबाद के इस मंदिर में लेटे हुए हैं हनुमान जी
एक बार जरूर करें देवी के शक्‍तिपीठ महालक्ष्मी मंदिर कोल्हापुर के दर्शन
घर लाएं श्री गणेश की ऐसी मूर्ति, कभी नहीं होगी धन की कमी
विवाह पंचमी: इस दिन हुआ था भगवान राम-सीता का विवाह, पूजा करने से मिलेंगे ये लाभ 
शुक्रवार को करें चमेली के फूल से ये उपाय, शुक्र दोष से निजात मिलने के साथ होगी हर इच्छा पूरी
शनि अमावस्या 2017: बन रहा है खास योग, बीमारियों से निजात पाने के लिए अपनाएं ये उपाय
शास्त्रों के मुताबिक रविवार के दिन सरसों के तेल से सिर पर मालिश करना है अशुभ, जानिए क्यों 
14 नवंबर आपके लिए हो सकता है खास, इन दिन ये उपाय कर पाएं मनवांछित फल
क्या आपको भी रात में आते हैं बुरे और डरावने सपने, करें ये उपाय
एक मंदिर ऐसा भी : जहां मुर्दे भी हो जाते हैं जीवित