Punjab

नेता जी ने गनमैन लेने के लिए रचा ड्रामा, शिवसेना के दो नेताओं सहित पांच गिरफ्तार

October 13, 2017 09:28 AM

लुधियाना,12 अक्तूबर ( न्यूज़ अपडेट इंडिया ) । शिवसेना (हिंद) के एक नेता हनक दिखाने के लिए गगनमैन लेना चाहता था। इसके लिए उसने कुछ लोगों के साथ मिलकर ड्रामा रचा और अपने लाेगों द्वारा घर में धमकी भरे पत्र फिकवाए। लेकिन, उनका भांडा फूट गया और वे पकड़े गए। पुलिस ने शिवसेना (हिंद) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और जिला प्रधान समेत पांच आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। एक आरोपी फरार बताया जा रहा है।पार्टी के जिला अध्‍यक्ष ने अपने घर के बाहर धमकी भरे पोस्टर पत्र फिंकवाए अौर इसके बाद उन्होंंने पुलिस से शिकायत की थी कि अलगाववादियों की तरफ से उन्हें जान से मारने की लगातार धमकियां दी जा रही हैं। पुलिस को शुरुआती जांच के दौरान मामला संदिग्ध लगा तो गहनता से पूछताछ की गई। इसके बाद पूरे मामले का खुलासा हो गया।

साथियों के साथ मिलकर घर के बाहर फेंकवाए थे धमकी भरे पोस्टर
आरोपियों की पहचान शिवसेना (हिंद) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रोहित साहनी, उसका जीजा सरदार नगर निवासी पार्टी के जिला प्रधान संचित मल्होत्रा, गांव मेहरबान निवासी मनिंदर सिंह उर्फ गोल्डी, बलदेव नगर निवासी प्रेम सागर, जगीरपुर रोड स्थित गोल्डन एवेन्यू कॉलोनी निवासी गुरप्रीत सिंह उर्फ सोनू के रूप में हुई है। फरार आरोपी बलजीत सिंह है। आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर पूछताछ की जा रही है।

पुलिस कमिश्नर आरएन ढोके ने कहा कि आरोपी संचित मल्होत्रा ने 1 सितंबर को शिकायत की थी कि मोटरसाइकिल सवार नकाबपोश दो युवकों ने उनके घर के बाहर कार के ऊपर धमकी भरे पोस्टर फेंके हैं। दोनों युवकों ने सिर पर परना भी बांधा हुआ था। उसने बताया कि फेसबुक पर भी उसे लगातार अलगाववादी जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। इसके लिए उसे गनमैन दिया जाए।

फर्जी आइडी से लेकर दिया था सिम
पुलिस को मामला संदिग्ध लगा तो संचित व रोहित साहनी से गहन पूछताछ की गई। इसके बाद खुलासा हुआ कि संचित ने गनमैन लेने के लिए रोहित साहनी के साथ मिलकर साजिश रची थी। आरोपी संचित का बलजीत सिंह खास दोस्त है। बलजीत सिंह ने अपने साथी गोल्डी को पहले फैक्टरी में नौकरी दिलवाई। इसके बाद गोल्डी से कहा कि वह अपने एक अन्य साथी के साथ मिलकर उसके घर के बाहर धमकी भरे पोस्टर फेंके।

गोल्डी ने अपने एक साथी सन्नी को पगड़ी पहनाकर मुंह ढक लिया और मोटरसाइकिल से आकर पोस्टर फेंक फरार हो गए। इस दौरान आरोपी सन्नी की ही मोटरसाइकिल इस्तेमाल की गई थी। उसके बाद संचित ने आरोपी गोल्डी को पुराना मोबाइल फोन लेकर दिया और एक जाली आइडी पर सिम भी ले दिया। इस मोबाइल फोन से भी धमकी भरे मैसेज करने शुरू कर दिए।

खुद पुलिस को दी सीसीटीवी फुटेज

गोल्डी अनपढ़ होने के कारण अपने एक खास दोस्त गुरप्रीत सोनू की मदद लेता था और उससे धमकी भरे मैसेज लिखवाता था। ये ड्रामा रचने के बाद संचित ने इसकी शिकायत पुलिस से कर दी। शिकायत में उन्होंने कहा कि वह विरोधी ताकतों के खिलाफ लगातार प्रचार करते रहते हैं। इस कारण संचित और उसके साले रोहित साहनी को लगातार जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं। इसके चलते रोहित साहनी के गनमैन बढ़ा देने चाहिए और संचित को गनमैन देना चाहिए। संचित ने पुलिस को मोटरसाइकिल सवार युवकों की सीसीटीवी फुटेज भी दी थी। जिसमें उनके मुंह ढके हुए थे।


मोबाइल फोन से आरोपियों तक पहुंची पुलिस

संचित की शिकायत के बाद पुलिस ने जिस मोबाइल फोन से धमकियां मिली थी, उसकी जांच शुरू कर दी। पोस्टर पर भी ङ्क्षहदी से लिखा था चेतावनी। जिसके बाद पुलिस को सुराग मिलना शुरू हो गया था।

 
Have something to say? Post your comment