Tuesday, December 12, 2017
Follow us on
 
 
 
Punjab

दमदमी टकसाल की पहल से सिख कैदियों को दिखाई देने लगी आशा

October 13, 2017 09:27 AM

अमृतसर,12 अक्तूबर ( न्यूज़ अपडेट इंडिया ) : अपनी सजा पूरी कर चुके देश की विभिन्न जेलों में बंद सिख कैदियों की रिहाई के लिए दमदमी टकसाल की ओर से किए जा रहे प्रयासों के परिणाम सामने आने लगे हैं। टकसाल के मुखी बाबा हरनाम ¨सह धुम्मा ने बताया कि उनकी ओर से सिख मसलों को लेकर भाजपा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी के माध्यम से केंद्र सरकार तक बात पहुंचाई थी। इसमें जेलों में बंद सजा पूरी कर चुके सिख कैदियों की रिहाई का मामला भी था। भारत सरकार के गृह मंत्रालय की ओर से दमदमी टकसाल को सूचना भेजी गई है कि भाजपा सासंद की ओर से भेजी गई सिखों की मांग पर केंद्र ने विचार शुरू कर दिया है। इसको मुख्य रखकर अलग-अलग राज्यों को पत्र भेज दिए गए हैं, ताकि सिखों को आ रही मुश्किलों का स्थायी हल निकाला जाए। धुम्मा कहा कि भारत सरकार की ओर से भेजे गए इस पत्र से आशा की किरण दिखाई देने लगी है कि जेलों में बंद वो कैदी जिनकी सजा पूरी हो चुकी है, जल्दी ही रिहा होंगे। उन्होंने कहा कि इसके साथ-साथ सिखों की काली सूची खत्म करने, 1984 के दंगा पीड़ितों को मुआवाजा देने, सिख रेफरेंस लाइब्रेरी का खजाना वापस दिलवाने की मांग भी उठाई गई है।

 
Have something to say? Post your comment