Wednesday, June 03, 2020
Follow us on
 
 
 
National

गुरुग्राम में आयोजित हुई देश की पहली डिजीटल ग्रामसभा

DIVYANSHI GAUR | May 21, 2020 11:07 AM

चंडीगढ़, 20 मई। लॉकडाउन के दौरान ज्वलंत मुद्दों पर आए दिन वैबीनार का आयोजन आमतौर पर हो रहा है लेकिन साइबर सिटी गुरुग्राम में बुधवार को सेल्फी विद डॉटर फांउडेशन ने अनोखी पहल करके कोरोना कॉल में देश की पहली ऑनलाइन ग्राम सभा का आयोजन किया। बीबीपुर मॉडल पर आयोजित इस ग्राम सभा में जहां पंचायत सदस्यों ने अपने-अपने वार्ड की समस्याएं रखी वहीं सरपंच की मौजूदगी में बकायदा कई प्रस्ताव भी पारित किए गए। दिलचस्प बात यह है कि समूची ग्राम पंचायत के सदस्य जहां अपने-अपने घरों से जूम एप के माध्यम से जुड़े वहीं भारी संख्या में ग्रामीण भी अपने-अपने घरों से डिजीटल माध्यम से इस सभा के गवाह बने। सेल्फी विद डॉटर फांउडेशन के अध्यक्ष सुनील जागलान ने बताया कि सामाजिक दृष्टि से उत्थान के लिए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी फांउडेशन द्वारा हरियाणा के सौ गावों को गोद लिया गया है। इन गावों में बीबीपुर मॉडल को लागू करने के लिए पिछले कई वर्षों से काम हो रहा है।
जागलान ने बताया कि फांउडेशन द्वारा ज्वलंत मुद्दों पर जहां वैबीनार का आयोजन किया जा रहा है वहीं देश में सबसे पहला प्रयास करते हुए आज गुरुग्राम के सोहना उपमंडल के अंतर्गत आते गांव नयागांव में ऑनलाइन ग्रामसभा का आयोजन किया गया। इसका मुख्य उद्देश्य ग्रामीणों को आईटी तकनीक के साथ जोड़ते हुए लॉकडाउन में सरकार के निर्देशों का पालन करना तथा उनके रूके हुए विकास कार्यो को दोबारा पटरी पर लाना है।
आज सरपंच सुरज्ञान सिंह की अध्यक्षता में हुई ग्राम सभा में वार्ड सदस्य शिशिर कुमार ने जहां कच्ची गलियों को पक्का करने की समस्या को उठाया वहीं वार्ड नंबर पांच के सदस्य विनय दुबे ने राशन कार्ड नहीं बनने, पानी निकासी जैसे कई मुद्दे उठाए। ग्राम सभा के दौरान सदस्यों ने शमशान घाट, स्ट्रीट लाइट आदि जैसे मुद्दे उठाए। ग्राम सचिव गंगाराम ने अपने कार्यालय से इस सभा की कार्यवाही लिखी। इस ऑनलाइन बैठक में पंचायत विकास विभाग के पूर्व उपनिदेशक आर.के. मेहता ने कहा कि वर्तमान परिदृश्य में इस तरह से ग्राम सभाओं का आयोजन किया जाना जरूरी है। सरकार को इस तरह का मॉडल सभी गावों में लागू करना चाहिए।
बाक्स---
क्या है बीबीपुर मॉडल
क्या है बीबीपुर मॉडल-जींद जिले के गांव बीबीपुर देश का पहला ऐसा गांव है जहां बेटियों को समाज में मान-सम्मान दिलाने की दिशा में कई तरह के सफल प्रयोग किए जा रहे हैं। वर्ष 2010 में ग्राम पंचायत की देश की सबसे पहली वेबसाईट व ऑनलाइन आरटीआई देने वाला हाईटेक ग्राम पंचायत के रूप में जाना जाता है। बीबीपुर के पूर्व सरपंच सुनील जागलान ने अपने गांव में जहां महिला पंचायत का आयोजन करवाया वहीं गांव में घरों के आगे बेटियों के नाम तख्ती लगाने की परंपरा शुरू की।
भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को अपने कार्यकाल के दौरान हरियाणा के जींद जिला में महिला सशक्तिकरण अथवा जागरूकता की दिशा में किए जा रहे कार्य पसंद आए। सेल्फी विद डॉटर फांउडेशन के चेयरमैन सुनील जागलान ने बीबीपुर मॉडल ऑफ विमेन एम्पावरमेंट एंड विलेज डवलपमेंट, युवाओं को जागरूक करने, लाडो स्वाभिमान द्वारा सशक्तिकरण और पंचायत प्रतिनिधियों को जागरूक करने के कई कार्यक्रम चलाए। जिसके चलते तत्कालीन राष्ट्रपति ने वर्ष 2016 में विकास के लिए गुरुग्राम के पांच गावों को गोद लिया था।

 

 
Have something to say? Post your comment
More National News
अंतरजातीय विवाहों के समर्थन में हरियाणा की खाप पंचायतें
कबूतरबाजी का शिकार होकर अमेरिका गए थे हरियाणवी, 70 थानों में एफआईआर दर्ज
हरियाणा में छह साल से सरकारी टिड्डी दल चट कर रहा किसानों की फसल:अभय चौटाला
हरियाणा:मेरा पानी-मेरी विरासत सरकार पर भारी पड़े विपक्ष और किसान
दिल्ली: 3 घंटे सड़क पर बेहोश पड़ा रहा 65 साल का बुजुर्ग, कोरोना के डर से लोगों ने छोड़ा और हुई मौत 
घर छोड़कर भागा युवा प्रेमी जोड़ा लॉकडाउन में फंस गया, और फिर क्वॉरेंटाइन में रचानी पड़ी शादी
प्रवासी मजदूरों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने जताई चिंता, कहा- ट्रेन के रजिस्ट्रेशन से लेकर खाने तक हर जगह खामियां 
चार लोगों को भेजने के लिए शराब कारोबारी ने 25 लाख में बुक किया 180 सीटर विमान
रोजा रख प्रवासी मजदूरों की सेवा में जुटी महिला पटवारी कायनात
जयपुर से लापता शख्स निजामुद्दीन मरकज में मिला