Wednesday, June 03, 2020
Follow us on
 
 
 
International

गायब हुए इमरान खान: विपक्ष हुआ हमलावर, पाकिस्तान में बवाल

May 13, 2020 11:59 PM

इस्लामाबाद , 13 मई। कोरोना महामारी पर चर्चा करने के लिए बुलाए गए ससंद के विशेष सत्र से प्रधानमंत्री इमरान खान गैर मौजूद रहे। जिससे नाराज विपक्ष ने सवालों के तीखे बाण बरसाए। पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की नेता शेरी रहमान ने कहा कि ऐसे जरुरी मौकों पर संसद के दोनों सदनों में प्रधानमंत्री इमरान का मौजदू ना रहना गंभीर सवाल खड़ा करता है कि आखिर इस देश को कौन चला रहा है और आखिरकार ऐसे अहम मौकों से पीएम कहां गायब हैं।

विपक्ष के हमलों का कुरैशी ने दिया जवाब
विपक्ष द्वारा किए गए हमलों का जवाब देने के लिए विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी को आगे आना पड़ा। विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान रात दिन कोरोना की लड़ाई को जीतने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं और वो अभी इस्लामाबाद में ही मौजूद हैं।
विपक्ष द्वारा लगातार मिल रहे दबाव के बाद कोरोना महामारी के इस संकट के बीच सरकार से सवाल पूछने के लिए बुलाए गए सीनेट और नेशनल असेम्बली के इस विशेष सत्र में PM इमरान के नादारद रहने की वजह से विपक्ष काफी हमलावर नजर आया। पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की नेता शेरी रहमान ने सरकार पर आरोप लगाया कि सरकार द्वारा लोगों में लगातार उहापोह और अनिश्चितता की स्थिति बरकरार रखी जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार के पास कोरोना वायरस की महामारी से लड़ने के लिए और खासतौर से आम लोगों की सुरक्षा के लिए कोई विशेष योजना ही नहीं है। शेरी रहमान ने इमरान खान पर हमला करते हुए बोला कि वो बार-बार अमेरिका, इंग्लैंड और इटली का उदाहरण क्यों देते हैं? वो अपने देश की जनता की बात क्यों नहीं करते? वो इटली या अन्य किसी बाहरी देशों की गलतियों से कुछ सीखते हुए कोई ठोस कदम क्यों नहीं उठाते हैं?

अपने प्रांतों को लेकर क्या कोई जिम्मेदारी नहीं?
पाकिस्तान के कई प्रांतों को उनकी स्थिति पर छोड़ देने और बार-बार उनकी स्वायत्तता की बात करने पर नाराजगी जताते हुए शेरी ने कहा कि प्रांतों की स्वायत्तता की बात प्रशासनिक मामलों में तो ठीक है, लेकिन ऐसे मुश्किल के दौर में सरकार की प्रांतों को लेकर कोई जिम्मेदारी नहीं है? क्या हमारे प्रांत पाकिस्तान से अलग देश हैं। वहीं सीनेट में विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने विपक्ष के सभी आरोपों का खंडन किया है। उन्होंने हमलावर विपक्ष का जवाब देते हुए कहा कि ये कहना गलत होगा कि सरकार की कोई साझा नीति नहीं है या प्रांतों को लेकर सरकार की कोई जवाबदेही नहीं है।
 
उन्होंने कहा कि PM खान अलग-अलग राज्यों के मुख्यमंत्रियों से लगातार बात करते रहते हैं। उनकी हर जरूरतों में उनके साथ खड़े रहते हैं। इसके अलावा कुरैशी ने लॉकडाउन खत्म करने के फैसले की निंदा करने वालों को जवाब दिया कि किसी भी परेशानी का हल लॉकडाउन नहीं है और देश को पटरी पर वापस लाने के लिए इसे धीरे धीरे खोलना बेहद आवश्यक है। वहीं संसद के सत्र को देर से बुलाए जाने पर कुरैशी ने पीपीपी को ही जिम्मेदार करार दिया। विदेश मंत्री ने कहा कि आरोप लगाने वाले लोग पहले अपनी पार्टी में सहमति बना लें। उन्होंने कहा कि सरकार सत्र को किसी भी समय बुलाने को तैयार थी, लेकिन विपक्ष और खासकर पीपीपी में ही इसे लेकर आपसी असहमति रही और जो ये सवाल उठा रही हैं, वो खुद भी इसके लिए तैयार नहीं थीं।

 
Have something to say? Post your comment
More International News
नेपाल के पीएम ओली का भारत विरोधी आदेश मानने से आर
नेपाल के पीएम ओली का भारत विरोधी आदेश मानने से आर
 भारत में पकड़े गए 'जासूसी' कबूतर के पाकिस्‍तानी मालिक ने पीएम मोदी से मांगी मदद
श्रीलंका ने भारत-चीन सीमा विवाद पर दिया बयान, पीएम राजपक्षे बोले-किसी का पक्ष नहीं लेंगे
साइकिल पर  घायल पिता को  ले जाने वाली ज्‍योति से प्रभावित हुई इवांका
ब्राजील में तेजी से बढ़ रहा है कोविड-19 का खतरा
ऑस्ट्रेलिया ने की कोरोना जांच की मांग, अब बौखलाए चीन ने किया बड़ा हमला
अमेरिका बोला- कोरोना वायरस की वैक्‍सीन के डाटा हैक करने की कोशिश कर रहा है चीन
अमेरिका: भारतीय मूल के डॉक्‍टर पिता और बेटी की कोरोना से मौत, गवर्नर ने दी श्रद्धांजलि
तीन दिन बाद कब्र से जिंदा निकली महिला, पुलिस तहकीकात में सामने आई बेटे की नीच करतूत