Monday, December 11, 2017
Follow us on
 
 
 
Chandigarh

वर्णिका छेड़छाड़ मामले में 11 अक्टूबर को तय होंगे आरोप

October 09, 2017 10:37 PM

चंडीगढ़, 09 अक्तूबर ( न्यूज़ अपडेट इंडिया ) । हरियाणा के वरिष्ठ आइएएस अधिकारी वीएस कुंडू की बेटी वर्णिका कुंडू से छेड़छाड़ व अपहरण की कोशिश के आरोपी हरियाणा भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला और उसके दोस्त आशीष के खिलाफ आज आरोप तय नहीं हो पाए। मामले की अगली सुनवाई 11 अक्टूबर को होगी। आज अदालत में इस पर फैसला होना था कि दोनों पर आरोप तय किए जाएं या नहीं। इस दौरान वर्णिका कुंडू पिता के साथ कोर्ट अदालत में मौजूद थी।
इससे पूर्व शुक्रवार को हुई सुनवाई में आरोपियों के वकील ने कोर्ट में अभियोजन पक्ष से सीसीटीवी फुटेज व कॉल डिटेल्स मांगी थी। सीसीटीवी फुटेज पुलिस थाने की है और कॉल डिटेल पीडि़ता व उसके पिता के बीच घटना के बाद हुई बातचीत की है। इस पर अदालत ने पुलिस को 9 अक्टूबर का समय दे दिया था।

1300 पेज का चालान, पुलिस ने बनाए 40 गवाह


उसी दिन अदालत में विकास बराला और आशीष के खिलाफ आरोप तय होने थे, लेकिन बचाव पक्ष ने एक याचिका दायर कर दी। उन्होंने घटना के बाद देर रात की पुलिस थाने की सीसीटीवी फुटेज मांगी। इसे अभियोजन पक्ष ने अदालत में ही देने में असमर्थता जताई और कहा कि सीसीटीवी कैमरे की फुटेज उनके पास नहीं है।
बचाव पक्ष ने घटना के बाद पीडि़ता और उसके पिता के बीच हुई कॉल की डिटेल भी मांगी। पुलिस ने अदालत से कुछ समय मांगा। इस पर अदालत ने पुलिस को दो दिन का समय दे दिया था। आज अदालत ने कहा कि एप्लीकेशन प्री मेच्योर है। जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया है।
300 पेज के चालान में 40 गवाह बनाए हैं। थाना पुलिस ने 21 सितंबर, 2017 को दोनों के खिलाफ चालान दाखिल किया था। दोनों के खिलाफ 341, 352डी, 365, 511, 34 आइपीसी और एमवी एक्ट के तहत आरोप पत्र दायर किया गया है। इनमें शिकायतकर्ता और उसके पिता के अलावा दोनों आरोपियों को चंडीगढ़ की हाउसिंग बोर्ड लाइट प्वाइंट पर पकडऩे वाले पीसीआर कर्मियों के हेड कांस्टेबल और कांस्टेबल को भी गवाह बनाया गया है। वहीं जांच में शामिल सभी पुलिसकर्मियों को भी बतौर गवाह केस में जोड़ा गया है।
गौरतलब है कि चंडीगढ़ में 5 अगस्त की रात वर्णिका कुंडू नाम की लड़की के साथ विकास और उसके दोस्त आशीष ने छेड़छाड़ की घटना को अंजाम दिया था। वह लोग गलत नीयत से वर्णिका की कार का पीछा कर रहे थे। किसी तरह वर्णिका ने पुलिस को फोन कर खुद की जान बचाई। वर्णिका कुंडू हरियाणा के वरिष्ठ अफसर वीरेंद्र कुंडू की बेटी है। वर्णिका की शिकायत के बाद पुलिस ने उसी रात विकास और आशीष को गिरफ्तार कर लिया था।

 
Have something to say? Post your comment