Monday, December 11, 2017
Follow us on
 
 
 
Business

जानिए रिस्क फ्री निवेश के बारे में, नहीं होता पैसा डूबने का कोई खतरा

November 30, 2017 11:28 AM

नई दिल्ली,29 नवंबर ( न्यूज़ अपडेट इंडिया ) बतौर निवेशक लोग हमेशा इसी तलाश में रहते हैं कि उन्हें एक ऐसा विकल्प सुझाया जाए जिसमें जोखिम (पैसा डूबने का) न के बराबर हो और निवेश पर बेहतर रिटर्न भी मिले। वैसे तो अधिकांश निवेश विकल्पों में कुछ न कुछ जोखिम जरूर रहता है लेकिन हम अपनी इस रिपोर्ट के माध्यम से कुछ ऐसे निवेश विकल्पों की जानकारी देने जा रहे हैं जिनमें जोखिम की मात्रा बेहद कम रहती है।

फिक्स्ड डिपॉडिट (FD): फिक्स्ड डिपॉजिट एक जाना माना और बेहतर निवेश विकल्प माना जाता है। ऐसे में अगर आप जोखिम रहित निवेश विकल्प की तलाश में हैं तो यह एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। एफडी में निवेश करना न सिर्फ जोखिम रहित रहता है बल्कि रिटर्न के लिहाज से भी यह काफी बेहतर है। जहां एक ओर सेविंग बैंक अकाउंट पर 3.5 से 6 फीसद की दर से ब्याज उपलब्ध करवाया जाता है वहीं एफडी पर कुछ बैंक 8 से 9 फीसद तक ब्याज उपलब्ध करवा रहे हैं। वहीं पांच साल की एफडी आपको टैक्स बेनिफिट भी दिला सकती है।

नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC): अगर आप सुरक्षित निवेश के साथ बेहतर रिटर्न भी चाहते हैं तो आपको इसका चयन करना चाहिए। इस योजना को सरकारी कर्मचारी, बिजनेसमैन और कर अदा करने वाले अन्य वेतन भोगियों की जरूरतों को मद्देनजर रखते हुए जारी किया गया है। इसमें निवेश की कोई सीमा नहीं होती है। राष्ट्रीय बचत पत्र दो तरह के होते हैं पहल है, टाइप-1 (VIII इश्यू) और दूसरा, टाइप-2 (IX इश्यू)। इस पर टीडीएस नहीं कटता है। ट्रस्ट और एचयूएफ इसमें निवेश नहीं कर सकते हैं। इसमें जमा पर 7.8 फीसद की दर से ब्याज मिलता है। इसमें जमा पर आयकर की धारा 80सी के तहत छूट मिलती है।

पब्लिक प्रॉविडंट फंड (PPF): जोखिम रहित निवेश के लिहाज से निवेशकों के लिए पीपीएफ सबसे आदर्श विकल्प होता है। पीपीएफ अकाउंट वेतनभोगी और व्यापारी वर्ग दोनों के लिए ही होता है। इसमें एक वित्तवर्ष में अधिकतम एक लाख रुपए तक के निवेश पर कर छूट का लाभ मिलता है। इसे या एकमुश्त या फिर 12 किश्तों में जमा किया जा सकता है। यह अकाउंट नाबालिग और बालिग दोनों का हो सकता है। इसका म्योच्योरिटी पीरियड 15 साल है। इसमें जमा पर 7.9 फीसद का ब्याज मिलता है।

रेकरिंग डिपॉजिट (Recurring Deposits): जिन्हें हर महीने एक तय सैलरी मिलती है उनके लिए यह एक शानदार निवेश विकल्प है। इसमें आपको हर महीने एक नियमित निवेश करना होता है। इक्ट्ठा होते होते आपकी रकम एक बड़ी एकमुश्त राशि बन जाती है। हालांकि यह रकम टैक्स के दायरे में आती है। देश के तमाम बैंक इस पर अच्छा रिटर्न दे रहे हैं।
 

पोस्ट ऑफिस डिपॉजिट (Post Office Deposit): पोस्ट ऑफिस डिपॉजिट भी निवेश के लिहाज से एक शानदार विकल्प है। यहां पांच साल तक अलग-अलग अवधि के लिए निवेश विकल्प सुझाए जाते हैं। लंबी अवधि में अच्छा रिटर्न हासिल होता है। इसमें पांच साल तक की अवधि के लिए किए गए निवेश पर 7.8 फीसद की दर से ब्याज हासिल किया जा सकता है। पांच साल से कम मैच्योरिटी पीरियड वाली योजनाओं पर टैक्स बेनिफिट भी मिलता है।

डेट म्यूचुअल फंड: जोखिम रहित निवेश के पैमाने पर डेट म्यूचुअल फंड एक बेहतर निवेश विकल्प माना जाता है। ये ऐसे फंड होते हैं जहां पैसा सरकारी प्रतिभूतियों और कॉरपोरेट बॉन्ड में निवेश किया जाता है। डेट म्यूचुअल फंड में लॉक-इन पीरियड नहीं होता है। आप जब चाहें इनमें से पैसा निकाल सकते हैं। 90-180 दिन के फिक्स डिपॉजिट में 6.5-7.5 फीसद सालाना की दर से ब्याज मिलता है, जबकि अल्ट्रा शॉर्ट टर्म डेट फंड में सामान अवधि में 9 फीसद का रिटर्न मिल जाता है।

 
Have something to say? Post your comment
 
More Business News
पेनाल्टी से लीगल एक्शन तक: लोन न चुकाना पड़ेगा कितना भारी, जानिए
ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार होने पर आपको मिलेगा कितना रिफंड, जानिए
क्रिटिकल इलनेस कवर कितना जरूरी, जानिए कैसे करें इसका चुनाव
ईएमआइ के बोझ से बचाएगा रिवर्स ईएमआइ फंड का तरीका
हेल्थ पॉलिसी खरीदने से पहले इन बातों का रखें ध्यान, होगा फायदा
मुनाफाखोरी रोधी प्राधिकरण के गठन को कैबिनेट की मंजूरी
आपके बच्चों को कभी नहीं सताएगी पैसों की चिंता, ऐसे करें प्लानिंग
फ्री कॉल और डाटा के बाद अब जियो देगा सस्‍ता किराना, अंबानी ने शुरू की फि‍र हलचल मचाने की तैयारी
वीवो ने खोला ऑफर्स का पिटारा, लेटेस्‍ट फोन पर मिल रही है हजारों की छूट
भारत में इस्लामिक बैंक की नहीं होगी शुरुआत, RTI के तहत RBI ने दी जानकारी